रविवार व्रत के फायदे क्या होते हैं? जानिए रविवार व्रत कब तक करना चाहिए?

रविवार का व्रत करने से और कथा सुनने से मनुष्य की सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं। रविवार का व्रत करने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं और मनुष्य की सभी इच्छाएं पूर्ण करते हैं।

0
66
रविवार व्रत के फायदे
रविवार व्रत करने के फायदे क्या-क्या होते हैं?

रविवार व्रत के फायदे क्या होते हैं? रविवार का दिन भगवान भास्कर यानी सूर्य का दिन होता है। इस दिन भगवान भास्कर की पूजा करने से व्यक्ति को कई प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं। इससे व्यक्ति का स्वास्थ्य अच्छा होता है और मनुष्य की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। इसलिए रविवार का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है और इस जीवन की उत्पत्ति में सहायक सूर्य की उपासना का विशेष महत्व भी है।

हिंदू धर्म के अनुसार, रविवार का दिन भगवान सूर्य का होने के साथ-साथ यह भगवान विष्णु का भी दिन है। रविवार के दिन भगवान विष्णु और सूर्य देव की आराधना करना चाहिए। हिंदू धर्म में इस दिन को सबसे उत्तम माना गया है। रविवार का दिन अन्य दिनों के मुकाबले सर्वश्रेष्ठ होता है। रविवार का व्रत करने से क्या फायदे होते हैं। आइए जानते हैं कि रविवार का व्रत करने के फायदे क्या-क्या होते हैं? पढ़ें- सोमवार को क्या खरीदना चाहिए? इन चीजों को खरीदने से घर में आती है अशुभता

रविवार का व्रत कब तक करें?

कहा जाता है कि रविवार का व्रत 30 रविवार ओं या 12 रविवार तक करना चाहिए। सूर्य का व्रत 1 वर्ष तक करना उत्तम माना गया है। रविवार को जो भोजन किया जाता है उसमें नमक का उपयोग वर्जित होता है। सूर्यास्त के बाद नमक ना खाने की सलाह दी जाती है। रविवार के दिन चावल में दूध और गुड़ मिलाकर खाने से सुई के बुरे प्रभाव दूर होते हैं।

रविवार व्रत करने के फायदे

1. रविवार का व्रत करने से और कथा सुनने से मनुष्य की सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं। रविवार का व्रत करने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं और मनुष्य की सभी इच्छाएं पूर्ण करते हैं।

2. रविवार का व्रत जीवन में सुख-समृद्धि, शत्रुओं से सुरक्षा और धन-संपत्ति के लिए अच्छा माना गया है। इसलिए जीवन में सुख-समृद्धि प्राप्त करने के लिए रविवार का व्रत करने की सलाह दी जाती है।

3. रविवार का दिन भगवान भास्कर यानी सूर्य का दिन होता है। भगवान भास्कर का दिन होने के कारण रविवार का व्रत करने से व्यक्ति के मान सम्मान में वृद्धि होती है और धन तथा यश में भी वृद्धि होती है।

4. रविवार के दिन उपवास रखने से व्यक्ति का स्वास्थ्य अच्छा होता है। ऐसा माना जाता है कि रविवार का व्रत करने से व्यक्ति तेजस्वी होता है। उनका यश और कीर्ति की चर्चा चारों ओर होती है। पढ़ें- मंदिर में माचिस क्यों नहीं रखनी चाहिए, पूजा घर में कितनी फोटो रखनी चाहिए?

5. रविवार व्रत को करने से कई प्रकार के रोग मिट जाते हैं। सुबह-सुबह स्नान करने के बाद थोड़ी देर धूप में रहने से शरीर में एनर्जी का संचार होता है और कई हानिकारक बैक्टीरिया मर जाते हैं। इससे व्यक्ति का स्वास्थ्य अच्छा होता है। सूर्य का सुबह का धूप लेने से शरीर में विटामिन डी की कमी की पूर्ति हो जाती है।

6. रविवार को शाम के समय सूर्य देव की आराधना करने से जीवन में संपन्नता आती है। ऐसा माना जाता है कि सुबह के समय सूर्य देव को जल देने से जल से चलकर आने वाली किरणें व्यक्ति के शरीर को संतुलित करने का काम करता है और यह प्रतिरोधक शक्ति को भी बढ़ाता है।