घर में कुत्ता पालना शुभ होता है या अशुभ, जानें क्या होता है

0
853
घर में कुत्ता पालना
घर में कुत्ता पालना

घर में कुत्ता पालना शुभ होता है या अशुभ? आज जानेंगे कि घर में कुत्ता पालना चाहिए या नहीं। आजकल घर में हर कोई कोई ना कोई जानवर जरूर पालता है। कुछ लोग बिल्ली को पालना पसंद करते हैं तो कुछ लोग कुत्ता पालना पसंद करते हैं तो वहीं कुछ लोगों को पक्षियों से बड़ा प्यार होता है। घर में जानवरों को पालने से कई लाभ होते हैं। लेकिन आज जानेंगे कि घर में कुत्ता पालना शुभ होता है या नहीं।

कुत्ता एक रहस्यमई जीव है। कुत्ता पालने से कई घर बर्बाद भी हो जाते हैं तो वहीं कई घरों में दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की होती है। रंगों की बात करें तो काला कुत्ता सबसे श्रेष्ठ माना जाता है। काले एवं सफेद रंग का मिश्रित कुत्ता भी अच्छा होता है। लाल किताब के अनुसार, कुत्ता केतु की शुभता के लिए पाया जाता है। किसी के लिए कुत्ता पालना फायदेमंद भी हो सकता है तो किसी के लिए यह नुकसानदायक हो सकता है।

हिंदू धर्म पुराणों में कुत्ते को यम का दूत कहा गया है। कुत्ते को भैरव देव का सेवक माना जाता है। कुत्ते को भोजन देने से भैरव महाराज प्रसन्न होते हैं। इससे व्यक्ति की कई आकस्मिक घटना से रक्षा होती है। ऐसा माना जाता है कि कुत्ते को देखकर हर तरह की आत्माएं दूर भागने लगती है।

कुत्ता एक ऐसा प्राणी है जो भविष्य में होने वाली घटनाओं को महसूस कर सकता है। कुत्ते सूक्ष्म जगत की आत्माओं को भी देखने में सक्षम होता है। यह पुरानी कई किलोमीटर दूर तक की गंध को सूंघ सकता है। कुत्ता को एक रहस्यमई प्राणी माना गया है। पढ़ें- सपने में यदि दिख जाए यह 10 चीज तो हो जाएं खुश, मिलने वाला है अपार धन

घर में कुत्ता क्यों पाया जाता है

कुत्ता एक वफादार प्राणी होता है। आजकल भले ही मनुष्य में वफादारी कम हो गई हो लेकिन कुत्ता कभी भी अपने मालिक के साथ धोखा नहीं करता है। वह अपने मालिक के साथ हमेशा ही वफादार रहता है। प्राचीन और मध्यकालीन लोग कुत्ता इसलिए पालते थे ताकि जंगली जानवरों, लुटेरों और भूत आदि से बच सकें। जंगल में रहने वाले लोग उस समय कुत्ता पाला करते थे।

आजकल की बात करें तो लोग घर में कुत्ता इसलिए पालते हैं ताकि वह घर में चोरों से रक्षा कर सके। आजकल कुत्तों की कई प्रजातियां पाई जाती है। कुछ कुत्ते भेड़ियों के शक्ल वाले भी होते हैं।

घर में काला कुत्ता पालना शुभ माना जाता है। माना जाता है कि जहां पर काला कुत्ता होता है वहां नकारात्मक ऊर्जा नहीं रहती है। काला कुत्ता पर दो शक्तिशाली ग्रहों का प्रभाव होता है। यह ग्रह है शनि ग्रह और केतु का प्रभाव। भगवान शनि देव को काली वस्तुएं प्रिय होते हैं। ऐसे में घर में काला कुत्ता पालने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं। कुत्ते को तेल लगा कर रोटी खिलाने से शनि ग्रह के साथ-साथ राहु केतु से संबंधित दोस्तों से भी निवारण मिलता है।

लाल किताब में इस बात का जिक्र किया गया है कि जिस दंपत्ति को संतान सुख में बाधा होती है, उसे अपने घर में काला कुत्ता या काला सफेद कुत्ता पालना चाहिए। ऐसा करने से दंपति के घर में संतान सुख की प्राप्ति होती है।

काला कुत्ता पालने से आपका रुका हुआ धन वापस आने लगता है। आपके घर के ऊपर किसी भी प्रकार की अचानक आने वाले संकटों से मुक्ति मिलती है। घर में कुत्ता पालना इसलिए आज से भी शुभ होता है कि इसे पालने से आर्थिक तंगी दूर हो जाती है। घर में प्रेत बाधा से मुक्ति के लिए भी काला कुत्ता पाला जाता है। बिजनेस या कार्य क्षेत्र में सफलता और उन्नति के लिए काला कुत्ता मददगार साबित हो सकता है।